Wednesday, 7 September 2016

फुटकल_2




गागर जितने मन में 
सागर के पानी जितनी हसरतें 
फिर भी मन कितना 
रीता रीता 
-------------------------